Banner

बड़ौदा गोल्ड कार्ड

उत्पाद की विशेषताएं

पात्रता

  • सभी निर्यातकों सहित लघु और मध्यम क्षेत्र जिनका बैंक के मानदंडों के अनुसार एक अच्छा ट्रैक रिकॉर्ड हो और क्रेडिट रेटिंग के आधार पर ऋण पात्रता हो.
  • खाता तीन वर्ष के लिए लगातार "मानक" होना चाहिए और ईसीजीसी या भारतीय रिजर्व बैंक की सतर्कता सूची में नहीं होना चाहिए.
  • हालांकि, पिछले तीन वर्ष से घाटे में रहने वाली या चालू वर्ष के टर्नओवर के 10% से अधिक अतिदेय निर्यात बिलों वाली निर्यात कंपनियां गोल्ड कार्ड के लिए पात्र नहीं हैं.

सीमा

  • निर्यातक की ऋण आवश्यकताओं के आधार पर दोनों, पोतलदानपूर्व / पोतलदानोत्तर तीन वर्ष की अवधि के लिए उचित ऋण सीमाएं मंजूर की जाएंगी जो कि वार्षिक समीक्षा के अधीन होंगी.
  • निर्धारित सीमा के कम से कम 20 प्रतिशत की एक स्टैंड-बाय सीमा अतिरिक्त आदेशों को क्रियान्वित करने हेतु तत्काल ऋण आवश्यकताओं को सुविधाजनक बनाने के लिए प्रदान की जा सकती है.
  • अप्रत्याशित निर्यात आदेश के मामले में, निर्यात आदेश के आकार और स्वरूप को ध्यान में रखते हुए, माल सूची संबंधी मानदंडों में छूट दी जा सकती है.

ब्याज दर

  • रुपया ऋण क्रेडिट के मामले में आधार दर से 0.75 / 1.00% अधिक ( आंतरिक क्रेडिट रेटिंग के अनुसार) अथवा विदेशी मुद्रा निर्यात ऋण के संबंध में लाइबोर से 350 बीपीएस अधिक.
  • वर्तमान में 90 दिनों के लिए लागू अवधि की जगह 365 दिनों के लिए पोतलदानोत्तर रुपया निर्यात ऋण पर रियायती ब्याज दर उपलब्ध है.

प्रभार में छूट

  • कार्ड धारकों को कमीशन एवं विनिमय के संबंध में 10% की छूट दी जाएगी.

अवधि

  • गोल्ड कार्ड -3- वर्ष की अवधि के लिए जारी किया जाएगा और किसी भी प्रतिकूलता / अनियमितताओं को ध्यान में रखते हुए अगले -3- वर्ष की अवधि के लिए नवीकरण किया जाएगा.

अन्य विशेषताएं

पीसीएफसी के प्रदान करने को प्राथमिकता दी जाएगी.

आप नीचे लिंक भी देख सकते हैं

अंतिम देखा गया पेज

X
Back to Top