Bank of Baroda


एनआरआई सेवाएं > भारत लौटने वाले भारतीयों के लिए सुविधाएं
 

शाखा लोकेटर
डेबिट कार्ड
कैलकुलेटर्स
आवेदन पत्र
संसाधन एव लेख
महत्वपूर्ण संपर्क




भारत लौटने वाले भारतीयों के लिए सुविधाएं


भारत लौट रहे भारतीय अर्थात जो पहले अनिवासी भारतीय थे और अब भारत में स्थायी रूप से रहने के लिए लौट रहे हैं, उन्हें निम्नलिखित कार्य हेतु भारत में आरएफसी खाते खोलने और बनाए रखने के लिए अनुमति दी गई है –

  • भारत के बाहर अधिग्रहित, स्वामित्वयुक्त एवं धारित विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां जिन्हें स्थायी रूप से भारत लौटने के समय भारत में लाया गया हो.

  • भारत के बाहर अपने नियोक्ता से पेंशन या किसी अन्य अधिवर्षिता या अन्य मौद्रिक लाभ के रूप में प्राप्त विदेशी मुद्रा.

  • भारत के बाहर निवासी व्यक्ति से उपहार या विरासत के रूप में प्राप्त या अधिग्रहित विदेशी मुद्रा, जब वह भारत के बाहर का निवासी था.

बैंक ऑफ बड़ौदा, अनिवासी भारतीयों जो यहां स्थायी रूप से बसने के इरादे से भारत लौट रहे हैं, के लिए लाभकारी जमा योजनाएं प्रदान करता है. आपके मौजूदा सभी प्रत्यावर्तन योग्य खातों को आरएफसी (निवासी विदेशी मुद्रा) में किसी भी एक में नामित / या एक से अधिक विदेशी मुद्राओं- यूएसडी, जीबीपी, यूरो, जेपीवाई, सीएडी एवं एयूडी के खातों में अंतरित किया जा सकता है.

सामान्य अनिवासी भारतीय खाते

साधारण अनिवासी खातों को भारत में खाताधारक की वापसी और फलस्वरूप भारत के निवासी बनने पर निवासी खातों के रूप में नामित किया जाएगा.

अनिवासी भारतीय (बाह्य) रुपए खाते

खाताधारक की भारत वापसी एवं भारतीय निवासी बनने पर एनआरई खाते, उसके द्वारा दिए गए विकल्प के अनुसार निवासी रुपया खातों या में आरएफसी खातों में परिवर्तित हो जाएगें. एनआरई सावधि जमा के मामले में ये खाते निवासी खाते में परिवर्तित होने के बाद भी परिपक्वता तक ब्याज की सहमत दर अर्जित करते रहेगें.

एफ़सीएनआर खाते

एफसीएनआर खाते खाताधारक के भारत में वापस लौटने और भारतीय निवासी बनने पर निवासी रुपया खातों या आरएफसी खाते में उसके द्वारा दिए गए विकल्प के अनुसार परिवर्तित हो जाएंगे.

यदि खाता निवासी रुपया खाते में परिवर्तित किया जाता है तो विदेशी मुद्रा राशि रूपांतरण के दिन लागू विनिमय दर पर भारतीय रुपए में परिवर्तित हो जाएगी. ऐसी जमा राशियों पर लागू प्रासंगिक दर पर नई जमा राशियों पर ब्याज देय होगा.

आरएफ़सी खाते

यदि राशि आरएफसी खाते में अंतरित की जाती है तो आरएफसी खाते पर लागू ब्याज दर देय होगा. आप अपनी इच्छानुसार भविष्य की किसी भी तारीख को, अपनी भारत वापसी के समय लाई गई संपत्ति अथवा विदेश में धारित संपत्ति से आरएफसी खाता खुलवा सकते हैं.

नियम व शर्तों के लिए यहां क्लिक करें.





एनआरआई सेवाएं
जमा उत्पाद
एनआरआई खाते खोलने हेतु सरल कदम
ऋण उत्पाद
भारत में धन कैसे भेजें
भारत लौटने वालों को सुविधाएं
निवेश अवसर एवं अन्य मूल्य वर्धित उत्पाद
निवेश संबंधी महत्वपूर्ण फेमा प्रावधान
कराधान
समान्यत: पूछे जाने वाले प्रश्न
पूछताछ
बैंकिंग कोड्स एंड स्टैंडर्ड्स बोर्ड ऑफ़ इंडिया | बड़ौदा अकादमी | व्यवसाय दायित्व रिपोर्ट | बैंकों की सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों के लिए प्रतिबद्धता संहिता | कॉर्पोरेट गवर्नेंस | बासल III के तहत प्रकटीकरण | आर्थिक परिदृश्य | वित्तीय आंकडें | भारत में छुट्टियाँ | मानव संसाधन | सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी आधारभूत संरचना | फोटो गैलरी | सूचना अधिकार अधिनियम | शेयर धारिता पैटर्न | शेयर मूल्य चार्ट | साइटमैप | विंडोज इस्तेमाल की शर्तें,स्टोर एप्लिकेशन | वेबकास्ट


© 2017 Bank of Baroda. All rights reserved. Disclaimer For optimum view of this site you must have IE 5.0 and 1024 by 768 pixels
     
chic logo