ब्याज सब्सिडी पात्रता प्रमाणपत्र एवं खादी एवं ग्रामीण उद्योग आयोग (केवीआईसी-आईएसईसी) के अंतर्गत ऋण

क्योंकि सबकी
आवश्यकताएं अलग हैं.

आपके सपनों को साकार करने के लिए
प्रस्तुत हैं, ऋण की विविध श्रृंखलाएं.

ब्याज सब्सिडी पात्रता प्रमाणपत्र एवं खादी एवं ग्रामीण उद्योग आयोग (केवीआईसी-आईएसईसी) के अंतर्गत ऋण

उद्देश्य

खादी एवं ग्रामीण उद्योगों को ऋण देने के लिए संस्थागत वित्तपोषक एजेंसियों को वित्तपोषण

पात्रता

संस्थागत वित्तपोषक एजेंसियों- खादी एवं ग्रामीण उद्योग आयोग. राज्य खादी एवं ग्रामीण उद्योग बोर्ड, पंजीकृत संस्थाएं, को-ऑपरेटीव सोसायटियां.

टिप्पणी

  • केवीआईसी का बैंक वित्तपोषण कक्ष ब्याज सब्सिडी पात्रता प्रमाणपत्र जारी करेगा. इन प्रमाणपत्रों के आधार पर पात्र संस्थाएं बैंकों के साथ वित्तीय सहायता के विषय में चर्चा करेंगी. यद्यपि, पात्र ऋणकर्ता को ऋण स्वीकृत करना या अस्वीकृत करना इसका अंतिम निर्णय बैंक के पास रहेगा.
  • दावों की गणना आईएसईसी में दर्शाई गई ऋण की राशि या वास्तव में ली गई राशि में से जो भी कम हो, उस पर की जानी चाहिए
  • संपूर्ण ब्यौरा केवीआईसी की वेबसाइट www.kvic.org.in External website that opens in a new window पर उपलब्ध है.

सब्सिडी

सब्सिडी, बैंक द्वारा वास्तव में प्रभारित ब्याज एवं ऋणकर्ता द्वारा वहन किये गए 4% ब्याज के बीच के अंतर तक सीमित रहेगी.

अंतिम देखा गया पेज

X
Back to Top