मियादी (12 महीनों से अधिक) जमा

अपनी धन की सुरक्षा के साथ-साथ
उसे निरंतर बढ़ता देखें.

बड़ौदा सावधि जमा खाते

मियादी (12 महीनों से अधिक) जमा

दीर्घकालीन निवेश हेतु उपयुक्त. आसान तरलता के साथ सुरक्षित धन पर ब्याज का भी अर्जन.

यह उत्पाद जमाकर्ता की दो आधारभूत आवश्यकताओं का समाधान देता है

  • लंबी अवधि के बावजूद भी सरल तरलता.
  • जमा राशि की बढ़ती अवधि के अनुपात में बढ़ता हुआ ब्याज.

अन्य लाभ

  • 95% तक की जमाराशि किसी गारंटर, प्रक्रिया शुल्क अथवा किसी भी प्रकार के फॉर्म भरे बिना, ओवरड्राफ्ट / ऋण के रूप में उपलब्ध.
  • बैंक जमा के पेटे लिए गये ऋण एवं अग्रिमों पर किसी भी प्रकार का प्रक्रिया शुल्क नहीं लिया जाता है.
  • रूपये 5.00 लाख तक की जमा राशियों के परिपक्वतापूर्व आहरण पर कोई ब्याज प्रभारित नहीं किया जायेगा, बशर्ते यह राशि बैंक में न्यूनतम 12 महीनों के लिए रखी गई हो.
  • परिपक्वता पर जमा राशियों का स्वत: नवीकरण हो जाता है जिसके फलस्वरूप आपके अनुदेशों के अभाव में ब्याज राशि का नुकसान नहीं होता है.
  • सरकार द्वारा प्रतिभूति के रूप में स्वीकार्य.
  • सरकार द्वारा प्रतिभूति के रूप में स्वीकार्य.
  • गैर-निधि आधारित सुविधाओं के मामले में मार्जिन मनी के रूप में स्वीकार्य.
  • नामांकन सुविधा उपलब्ध है.
  • न्यूनतम जमा रूपये 1000/- तथा तत्पश्चात रूपये 100/- के गुणन में
  • जमा की अवधि :
    • जमा की न्यूनतम अवधि - 12 महीने
    • जमा की अधिकतम अवधि - 120 महीने
  • चक्रवृद्धि ब्याज की गणना तिमाही आधार पर की जाती है एवं ब्याज, मासिक (ब्याज राशि बट्टाकृत मूल्य पर), त्रैमासिक, अर्द्धवार्षिक आधार पर अथवा परिपक्वता के समय अदा किया जा सकता है.
  • ब्याज दर परिपक्वता अवधि पर आधारित होती है.
  • ब्याज का भुगतान, टीडीएस (स्त्रोत पर कर कर कटौती) के अध्यधीन.
  • ब्याज दर प्राप्त आय पर रूपये 9000/- की अधिकतम सीमा तक धारा 80 एल के अन्तर्गत छूट का प्रावधान है. तथापि, जिन जमा राशियों पर प्राप्त वार्षिक ब्याज रूपये 5000/- से अधिक है वे टीडीएस के अध्यधीन हैं.
  • वरिष्ठ नागरिकों को रूपये 10,000/- से अधिक की जमाराशि पर 0.5 प्रतिशत का अतिरिक्त ब्याज दिया जाता है.
  • खाता खोलने हेतु आवश्यक दस्तावेज:
    • पासपोर्ट आकार का फोटोग्राफ
    • निवास प्रमाण पत्र
    • बैंक के मानदण्डों के अनुसार परिचय

अंतिम देखा गया पेज

X
Back to Top