सप्लाई चेन फायनान्स

जब आपके व्यवसाय को त्वरित ऋण
मंजूरी मिलती है तब आपके व्यवसाय
का चहुमुंखी विकास होता है.

Supply Chain Finance

फास्ट ट्रैक मंजूरी फ्लेक्सिबल सीमा आसान संव्यवहार प्रोसेसिंग
डिजिटलीकृत एवं तात्कालिक संव्यवहार तात्कालिक एमआईएस एवं अलर्ट प्रतिस्पर्धी मूल्य

सप्लाई चेन फायनान्स

बैंक ऑफ़ बड़ौदा के सप्लाई चेन फायनान्स के साथ संपूर्ण, वृद्धिशील बने एवं रूपांतरित हो

सप्लाई चेन फायनांस (एससीएफ) लार्ज कार्पोरेट (“एंकर”) के साथ व्यवसाय संबंध रखने वाले डीलर/सप्लायर (“स्पोक”) को अल्पावधि के लिए कार्यशील पूंजी वित्तपोषण करता है जिससे स्पोक एवं एंकर दोनों की कार्यशील पूंजी का इष्टतम उपयोग किया जा सके. सप्लाई चेन फायनांस इष्टतम वित्तपोषण एवं ग्राहकों हेतु फ्लेक्सिबिलिटी के साथ बिल डिस्काउंटिंग एवं ओवरड्राफ्ट उत्पाद का अच्छा मिश्रण है. सभी संव्यवहार एंकर और स्पोक के बीच एक आधार दस्तावेज (इनवॉइस) से जुड़े होते हैं.

एकीकरण

ग्राहकों के व्यवसाय के लिए यह एक संपूर्ण वित्तपोषण समाधान है जो यह सुनिश्चित करता है कि डीलर/सप्लायर तथा लार्ज कार्पोरेट के पास आवश्यकता पड़ने पर कार्यशील पूंजी रहे.

गतिशीलता

यह त्वरित एवं पूर्ण डिजिटल सिस्टम है. हमारे इस उत्पाद की प्रत्येक विशेषता ग्राहक के व्यवसाय को गतिशील बनाने के लिए तैयार की गयी है जो अन्य उत्पादों से अलग है.

रूपांतरण

हमारा श्रेष्ठ सप्लाई चेन फायनांस प्लेटफॉर्म आपके व्यवसाय को अगली ऊँचाई तक पहुंचाने के लिए रूपांतरण करने हेतु आपके वेंडरों एवं डीलरों के साथ आपकी व्यवसायिक सहक्रियताओं का इष्टतम उपयोग करता है और संबंधों को और मजबूत बनाता है.

सप्लाई चेन फायनांस के लाभ

सप्लायर / वेंडर

सप्लायर / वेंडर

  • शीघ्र भुगतान क्रेता पर वित्तीय निर्भरता को कम करता है.
  • क्रेता की क्रेडिट रेटिंग का लाभ लेकर पूंजी की लागत में कमी
  • कैश फ्लो की निश्चितता में वृद्धि
  • शिपमेंट के बाद ; डब्ल्यूआईपी वित्तपोषण उपलब्ध करवाता है
  • वित्तीय अनुशासन
एंकर / उत्पादनकर्ता

एंकर / उत्पादनकर्ता

  • कार्यशील पूंजी में निवेश को कम करता है
  • बिक्री किए गए माल सामान की लागत को (सीओजीएस) कम करता है
  • ऋण की कुल लागत को कम करता है
  • ऑटोमेशन से प्रशासनिक लागत में कमी आती है
  • कैश फ्लो में वृद्धि होती है.
  • सप्लाई चेन की स्थिरता में वृद्धि
  • अंतिम उपयोगकर्ताओं के लिए माल की उपलब्धता सुनिश्चित करता है
  • बिक्री में वृद्धि
डीलर

डीलर

  • इंवेंटरी की खरीद के लिए आवश्यक कार्यशील पूंजी उपलब्ध करवाता है.
  • अन्य कार्यशील पूंजी उत्पादों की तुलना में निधियों की अल्प लागत
  • लघु अवधि होने के नाते वित्तीय अनुशासन की आदत विकसित करता है
  • ऑटोमेशन से प्रशासनिक लागत में कमी आती है

लार्ज कॉर्पोरेट के चयनित डीलरों हेतु कार्यशील पूंजी ऋण सीमा उपलब्ध होने से, वे लार्ज कॉर्पोरेट से इंवेंटरी की खरीद हेतु अल्पावधि वित्तपोषण प्राप्त कर सकते हैं.

डीलर वित्तपोषण - शिपमेंट के बाद के वित्तपोषण का कार्यप्रवाह

Dealer Finance

डीलर (स्पोक) माल प्रेषण के लिए क्रय आदेश बनवाता है और उसे आपूर्तिकर्ता को अग्रेषित करता है. आपूर्तिकर्ता (एंकर) माल प्रेषित करता है और सप्लाई चेन फायनांस प्लेटफॉर्म पर इलेक्ट्रॉनिक रूप से इनवॉइस को अपलोड करके वित्तपोषण हेतु अनुरोध करता है. डीलर (स्पोक) द्वारा इलेक्ट्रॉनिक रूप से इनवॉइस स्वीकार किए जाने पर सप्लाई चेन फायनांस सिस्टम द्वारा ऋण सीमा की उपलब्धता, इनवॉइस की वैधता, अतिदेय स्थिति आदि जैसे मानदंडों हेतु संव्यवहार की वैधता डिजिटल रूप से सत्यापित की जाती है. सफलतापूर्वक सत्यापन पर सिस्टम द्वारा तत्काल वित्तपोषण किया जाता है और सप्लायर (एंकर) के खाते में संवितरण जमा किया जाता है. नियत तारीख पर डीलर (स्पोक) बकाया इनवॉइस राशि का भुगतान करता है. यह प्रक्रिया पूरी तरह से स्वचालित है और तात्कालिक ई-अलर्ट की विशेषता से युक्त है तथा संव्यवहार के प्रत्येक स्तर पर ग्राहकों को ई-रिपोर्ट भेजती है.

Working Capital Facility for Vendors of large corporates to access quicker realization of Bills and invoices accepted by large corporates to optimize their working capital cycles.

Vendor Finance – Work Flow of Post Shipment Financing

Vendor Finance

The Buyer (anchor) raises a purchase order requesting a consignment of goods and forwards it to the supplier. The Vendor (spoke) ships the goods consignment and initiates the request for finance by uploading the invoices electronically on the supply chain finance platform. Once the invoices are electronically accepted by the Buyer (anchor), validation of the transaction for parameters like availability of credit limit, validity of invoice, overdue position etc. is digitally verified by the Supply Chain Finance system. On successful validation, finance is instantaneously created by the system and disbursement is credited in to Vendor’s (spoke’s) account. On the due date the Vendor’s (spoke’s) liquidates the outstanding invoice amount. The entire process is fully automated and featured with real time e-alerts and e-reports sent to the clients at each leg of the transaction.

Working Capital Limits for Large Corporates to make payments to their vendors.

Payable Finance – Workflow of Payables based solutions

Payable Finance

The Buyer (anchor) raises a purchase order requesting a consignment of goods and forwards it to the supplier. The Vendor (spoke) ships the goods consignment and initiates the request for finance by uploading the invoices electronically on the supply chain finance platform. Once the invoices are electronically accepted by the Buyer (anchor), validation of the transaction for parameters like availability of credit limit, validity of invoice, overdue position etc. is digitally verified by the Supply Chain Finance system. On successful validation, finance is instantaneously created by the system and disbursement is credited in to Vendor’s (spoke’s) account. On the due date the Buyer’s (anchor’s) liquidates the outstanding invoice amount. The entire process is fully automated and featured with real time e-alerts and e-reports sent to the clients at each leg of the transaction.

अंतिम देखा गया पेज

X
Back to Top